ऋषभ पंत का जीवन परिचय ( Life, Career, records, Net worth )

इस आर्टिकल में हम ऋषभ पंत का जीवन परिचय के बारे में जानेंगे। 

इस दुनिया में हर कोई अपने जीवन में स्वयं को एक अलग मुकाम पर देखना चाहता है, लेकिन बहुत लोगो में वास्तव में वो काबिलियत होती है। जो उन्हें इस दुनिया में सफल लोगो की श्रेणी में पंहुचा देती है, कुछ लोगो के लिये यह किस्मत के खेल जैसा हो सकता है। लेकिन वास्तव में इस दुनिया की हर फील्ड में आपको आगे बढने और सफल होने के लिए कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता होती है। जिससे की आप अपने आप ही किस्मत वाले बन जाते है, इस आर्टिकल में हम एक ऐसे ही क्रिकेटर के बारे में जानेंगे। 

जिन्होंने कड़ी मेहनत करते हुए अपनी किस्मत को खुद बनाया है।

उन्होंने जीवन में आने वाले संघर्षो से डरने के बजाय उसने सीखते हुए आगे बढने का फैसला किया। उनके इसी निर्णय ने आज उन्हें करोडो युवाओ का आदर्श बना दिया है। जी हां ! इस आर्टिकल में हम ऋऋषभ पंत की ही बात कर रहे है। जिन्होंने अपने बेहतरीन खेल से हर किकेट प्रेमी के दिल में अपनी अलग ही जगह बना ली है।

ऋषभ पंत का बचपन और परिवार

ऋषभ पंत का जन्म 4 अक्टूबर सन 1997 को उत्तराखंड के हरिद्वार शहर में हुआ था। रिषभ के पिता का नाम राजेंद्र पन्त है और रिषभ की माँ का नाम सरोज पन्त है, रिषभ के परिवार में उनके अलावा उनकी एक बड़ी बहन भी है, जिनका नाम साक्षी पन्त है। हम आपको बता दे ही आज आप जिस रिषभ को भारतीय क्रिकेट टीम में कई तरह की शरारते करते हुए देखते है। असल में रिषभ अपने बचपन के दिनों में उतने ही शांत स्वभाव के थे, वैसे बचपन में रिषभ क्रिकेट को इतना अधिक पसंद करते थे की वो खाना – भूलकर बस पूरे दिन क्रिकेट ही खेला करते थे।

बस इसी वजह से रिषभ को सिर्फ ज्यादा क्रिकेट खेलने की वजह से ही डाट पड़ती थी। रिषभ का परिवार एक मध्यमवर्गीय परिवार था, उनके परिवार के आर्थिक हालात सामान्य थे। चलिए अब हम ऋषभ पंत की पढाई – लिखाई और उनके शुरूआती जीवन के बारे में जानते है।

ऋषभ पंत की शिक्षा तथा शुरूआती जीवन

ऋषभ पंत ने अपनी शुरूआती पढाई पास ही के शहर देहरादून से की थी, यहा उन्होंने अपनी शुरूआती पढाई के लिए The Indian Public School, Deharadoon में दखिला लिया था।  हालाँकि शुरुआत से ही रिषभ का मन पढाई में कम और क्रिकेट खेलने में अधिक लगता था। आलम यह था की धीरे धीरे रिषभ का पढाई से पूरी तरह से मन हटाने लग गया और अब रिषभ ने  क्रिकेट को किसी जुनूनी के जैसा खेलना शुरु कर दिया था।

क्रिकेट के प्रति रिषभ का इतना अधिक जूनून देखते हुए, रिषभ के परिवार ने भी रिषभ को आगे बढने के लिए उनका साथ देना शुरू कर दिया था। इसके बाद अपने शुरूआती जीवन में ही रिषभ ने ही परिवार से मिलने वाले सपोर्ट और अपनी क्रिकेट के प्रति अपने लगाव को देखते हुए भारतीय टीम में खेलने का सामना संजो लिया था। चलिए अब हम रिषभ के जीवन के उस हिस्से के बारे में जाते है, जब उन्हें प्रोफेशनल रूप से क्रिकेट खेलने का मौका मिला था।

ऋषभ पंत का शुरूआती संघर्ष तथा क्रिकेट करियर

दरअसल बात यह थी की ऋषभ पंत की बड़ी बहन जिनका नाम साक्षी पन्त है, वो दिल्ली में अपनी पढाई पूरी कर रही थी, उन्होंने रिषभ से कहा की  “दिल्ली में एक टेलेंट हंट चल रहा है। जिसके माध्यम से नए खिलाडियों को क्रिकेट क्लब में खेलने के लिए चुना जा रहा है” उनकी बहन के सुझाव पर रिषभ ने तुरंत निर्णय लिया की, उन्हें इस मौके को गवाना नही चाहिए।

रिषभ ने अपनी बहन के अनुसार दिल्ली में होने वाले टेलेंट हंट में हिस्सा लिया। जिसके बाद रिषभ ने अपने खेल से सभी को प्रभावित किया था। जिसके बाद रिषभ को क्रिकेट क्लब से खेलने के लिए चुन लिया गया था। इसके बाद उन्हें दिल्ली के Sonet Cricket Club की टीम के साथ में हर हफ्ते दो दिन की ट्रेनिंग दी जाती थी, जिससे की उनका खेल और भी निखर सके।

ऋषभ पंत एक साक्षात्कार में बताते है की ” यह समय उनके लिए बहुत मुश्किलों भरा रहा था। क्योकि महज दस – ग्यारह साल की उम्र में उन्हें ट्रेन से हर हफ्ते दिल्ली आना पड़ता था। वापस जाने के लिए पैसो की कमी को वजह से कुछ राते गुरूद्वारे में वहा मिलने वाले लंगर खाकर ही गुजारनी पडती थी ” कुछ समय तक ऐसा ही संघर्ष करने के बाद रिषभ के कोच ने उन्हें राजस्थान जाने का सुझाव दिया था।

जिसके बाद

रिषभ अपने क्रिकेट के सफर को आगे बढाने के लिए राजस्थान चले गये, यहा आकर उन्होंने क्रिकेट की हर बारीकी को सीखते हुए। रिषभ ने राजस्थान की ओर से अंडर – 14 और अंडर – 16 टीम की ओर से क्रिकेट खेला।

चूँकि रिषभ राजस्थान में खेलने वाले एकमात्र ऐसे खिलाडी थे, जो दुसरे राज्य के थे इसलिए रिषभ ने वापिस से दिल्ली जाकर अपना करियर बनाने का सोचा।  इसके बाद रिषभ का खेल हर दिन बेहतर से बेहतर होता चला गया। जिसके बाद रिषभ को आगे खेलने के लिए मौके मिलने शुरू हो गये।

  • ऋषभ पंत को साल 2015 में दिल्ली को रणजी टीम से क्रिकेट खेलने का सुनहरा मौका मिला था।

  • इसके बाद रिषभ को भारत के लिए अंडर – 19 क्रिकेट टीम में भी खेलने के लिए चुना गया था।

  • अपने बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर ऋषभ पंत को 2016 में दिल्ली डेयरडेविल्स की ओर से खेलने का मौका मिला था।

आईपीएल में दिल्ली की टीम में चुन लिए जाने के बाद से मानो एक तरह से रिषभ किस्मत की बदल गयी।अथवा इस तरह से कह लीजिये की रिषभ की शुरूआती दिनों में की गयी मेहनत अब रंग ला रही थी।  आईपीएल में रिषभ ने दिल्ली की ओर से खेलते हुए। अपनी धुंआधार बल्लेबाजी से सभी को प्रभावित किया। जिसके बाद से हर किसी के जैसे ही सेलेक्टरो की नजर भी रिषभ के खेल पर पड़ी।

जिसके बाद मानो रिषभ का बचपन का सपने पूरा होने की बारी आ गयी थी।

पहला डेब्यू मैच किसके खिलाफ खेला था?

  • साल 2017 में ऋषभ पंत को इंग्लैंड के खिलाफ खेली जाने वाली टी-20 सीरिज में शामिल कर किया गया था।

  • इसके बाद 18 अगस्त साल 2018 को रिषभ को इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में डेब्यू करने का मौका मिला था।

  • वनडे क्रिकेट में अपना डेब्यू मैच 21 अक्टूबर, साल 2018 में ही वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था।

यदि हम बात करे ऋषभ पंत के वर्तमान खेल के बारे में, तब हम आपको बता दे की रिषभ भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा है। हालाँकि रिषभ को तीनो फोर्मेट में खेलने का मौका मिलता है। लेकिन रिषभ को टी- 20 में विशेष रूप से टीम का हिस्सा बनाया जाता है। वर्तमान में रिषभ पन्त आईपीएल में दिल्ली की टीम की कप्तानी कर रहे है।

चलिए अब हम रिषभ पन्त के द्वारा बनाये गये रिकोर्ड्स और उनके मिले अवार्ड्स के बारे में जानते है।

 

ऋषभ पंत का रिकार्ड्स तथा मान-सम्मान

  • ऋषभ पंत ऐसे पहले भारतीय खिलाडी जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में अपना पाहला रन छक्के से बनाया है।

  • वह ऐसे पहले भारतीय विकेटकीपर खिलाडी है, जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी शतक बनाया है।

  • वर्तमान में रिषभ के नाम टेस्ट क्रिकेट में सबसे अधिक कैच लेने का रिकार्ड है।

  • वह ऐसे पहले भारतीय विकेटकीपर खिलाडी है, जिन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ शतक बनाया है।

  • साल 2018 में रिषभ को ICC के द्वारा ICC Emerging Cricketer of the Year के अवार्ड से सम्मानित किया गया है।

  • वह ऐसे दुसरे सबसे युवा भारतीय खिलाडी है, जिन्होंने टी-20 में डेब्यू किया है।

  • टेस्ट क्रिकेट में छक्के से अपने करियर और पारी की शुरुआत करने वाले एकमात्र खिलाडी है।

  • ऋषभ पंत को ICC के Inaugural Player of the Month के अवार्ड्स से सम्मानित किया गया है।

 

ऋषभ पंत का निजी जीवन :

यदि हम बात करे ऋषभ पंत के निजी जीवन के बारे में, तब हम आपको यह बता दे की वर्तमान में रिषभ पत ईशा नेगी के साथ रिलेशनशिप में है। दोनों ने ही एक दुसरे से अपने रिश्ते की बात को स्वीकार किया है। ईशा नेगी पेशे से एक इंटरप्रेन्योर होने के साथ साथ इंटीरियर डिजायनर भी है, हम आशा करते है की ईशा और रिषभ दोनों मिलकर अपने लिए एक खूबसूरत जिन्दगी डिजाईन करेंगे।

यह भी पढ़ें

विराट कोहली का जीवन परिचय

महेंद्र सिंह धोनी जीवनी ( बचपन, करियर, रिकॉर्ड्स, कमाई )

रोहित शर्मा का जीवन परिचय तथा उनकी बायोग्राफी

निष्कर्ष

हमारे देश में आज हर 10 में से 6 युवा क्रिकेटर ही बनना चाहते है। लेकिन एक सफल क्रिकेटर बनने की लिए बहुत से संघर्षो का सामना करना पड़ता है। जिस प्रकार से रिषभ पन्त ने अपने शुरूआती दिनों में क्रिकेट के लिए बहुत सारे संघर्ष किये।

जिमसे कभी कभी तो उन्होंने गुरूद्वारे के लंगर से अपना पेट भरा है।

सही मायनों में कहे तो रिषभ ने अपनी कड़ी मेहनत से ही अपनी किस्मत बनायी है। वर्तमान में रिषभ लाखो उन्ही के जैसे युवा खिलाडियों की प्रेरणा है। जो क्रिकेट में अपना करियर बनाने के लिए प्रयास कर रहे है। हम आशा करते है की आपको जीवन परिचय जरुर ही पसंद आया है। कृपया इसे अपने उन सभी दोस्तों के साथ साझा जरुर करे जो भविष्य में एक सफल क्रिकेटर बनना चाहते है।

Leave a Comment

You cannot copy content of this page