ईशान किशन जीवनी ( संघर्ष, करियर, परिवार, कमाई )

इस आर्टिकल में हम ईशान किशन का जीवन परिचय जानेंगे तथा उनके जीवन के संघर्ष को करीब से जानेंगे।

हमारे देश में आज लांखो युवा है जो किसी न खेल में अपना करियर बनाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे है। लेकिन क्रिकेट एक ऐसा खेल है जिसमे सबसे अधिक युवा करियर बनाने के बारे में सोचते है। लेकिन बहुत कम ही युवा इस खेल में अपना सफल करियर बनाने में सफल हो पाते है। कुछ विशेष प्रतिभावान युवा खिलाड़ी होते है। जिनमे प्रतिभा की कोई कमी नही होती है, वो कड़ी मेहनत के दम पर निरंतर आगे बढ़ते है।

इस आर्टिकल में हम एक ऐसे ही युवा क्रिकेटर के जीवन और उसके संघर्ष के बारे में जानेंगे, जिसने बेहद ही कम उम्र में और कम समय में भारतीय क्रिकेट में अपनी अलग ही छाप छोड़ी है। उन्होंने अपनी मेहनत और अपने खेल से ये साबित कर दिया है। की यदि कोई चाहे तो कड़ी मेहनत के साथ अपने जीवन में कुछ भी कर सकता है।

ईशान किशन का बायोडाटा

1 Full Name Ishan Pranav Pandey Kishan
2 Birth Date 18 July, ( 1998 )
3 Birth Place Patna, Bihar, India
4 Father / Mother Pranav Kumar Pandey / Suchitra
5 Educational Qualification B.A. ( College of Commerce Arts & Science, Patna )
6 Height 168 cm ( 5’6” )
7 Weight 60 Kg’s
8 Relationship Status Aditi Hundia
9 Net Worth 29 Cr.
10 Nationality Indian

ईशान किशन का बचपन तथा परिवार

ईशान किशन वैसे तो मूल रूप से बिहार की राजधानी पटना के रहने वाले है, ईशान किशन का जन्म 18 जुलाई, 1998 को पटना में हुआ था। ईशान के पिता का नाम प्रणव पाण्डेय है जो की पेशे से एक छोटे बिल्डर है, वही किशन की माँ एक गृहणी है, जिनका नाम सुचित्रा है। ईशान के परिवार में उनके साथ उनके बड़े भाई भी है, जिनका नाम राज है।

उनको बचपन से ही क्रिकेट के खेल में बहुत अधिक रूचि थी।

सौभाग्य से ईशान की क्रिकेट के प्रति गहरी रूचि को देखते हुए ईशान के बड़े भाई राज ने उन्हें क्रिकेट खेलने के लिए बचपन से ही प्रेरित किया था। चलिए अब हम ईशान किशन के शुरुआती जीवन तथा उनकी पढाई के बारे में जानते है।

ईशान किशन की शिक्षा तथा शुरूआती जीवन

चूँकि ईशान की रूचि तो शुरुआत से ही क्रिकेट में ही थी, उनके परिवार ने भी उन्हें कभी भी क्रिकेट खेलने से नही रोका। बल्कि उनके बड़े भाई ने उन्हें क्रिकेट खेलने और इसी क्षेत्र में करियर बनाने के लिए बी प्रेरित किया था।

ईशान ने अपनी शुरूआती पढाई पटना में स्थित Delhi Public School की थी।

ईशान अपने श्कूल के दिनों में भी स्कूल की क्रिकेट टीम में बेहतरीन खिलाड़ी थे, इसके बाद ईशान किशन ने College of Commerce Arts & Scienc, Patna से बी. ऐ. की डिग्री प्राप्त की थी। पढाई के साथ साथ ईशान के बड़े भाई राज किशन तथा ईशान दोनों ने ही पटना में एक क्रिकेट एकेडमी ज्वाइन की थी।

यही से ईशान को क्रिकेट को और भी बारीकी से जानने का मौका मिला था।

हालाँकि उनके भाई को भी क्रिकेट में काफी रूचि थी, लेकिन पारिवारिक जिम्मेदारियों के चलते उन्होंने ईशान को क्रिकेट खेलने के लिए हर समय प्रेरित किया था। वर्तमान में ईशान किशन क्रिकट में आज जिस भी मुकाम पर है, उसमे ईशान के बड़े भाई राज किशन की सबसे अहम भूमिका है।

 

ईशान किशन का क्रिकेट करियर और संघर्ष

ईशान किशन शुरू से ही एक प्रतिभावान खिलाड़ी थे, उन्हें तो बस आगे बढने के लिए अवसरों की तलाश थी। लेकिन दुर्भाग्य से उन दिनों बिहार क्रिकेट एसोसिएशन को BCCI से मान्यता न मिलने के कारण ईशान को कुछ समझ में नही आ रहा था। की वो अपने क्रिकेट करियर में आगे कैसे बढ़े। हालाँकि ईशान ने इन सभी चीजों का अपने खेल पर कोई विपरीत प्रभाव नही पड़ने दिया था, वह लगातार अपने खेल को बेहतर कर रहे थे। एक कहावत भी है जो कड़ी मेहनत करते है उनका रास्ता अपने आप ही बनता चला जाता है।

ऐसा ही कुछ ईशान किशन के साथ भी हुआ, उस समय उनको उनके कोच और सीनियर खिलाडियों से यह सुझाव मिला की वह अपने पड़ोस के राज्य झारखण्ड की ओर से खेले। क्योकि उस समय झारखण्ड में क्रिकेट के लिए बिहार से बेहतर अवसर उपलब्ध थे। हालाँकि किसी भी खिलाडी के लिए अपने राज्य को छोडकर किसी दुसरे राज्य से क्रिकेट खेलने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। लेकिन ईशान ने इस मुश्किल समय में हार नही मानी थी, वह झारखंड के लिए कड़ी मेहनत और लगन से क्रिकेट खेल रहे थे।

क्रिकेट रिकार्ड्स

  • 6 नवम्बर, वर्ष 2016 में ईशान किशन ने दिल्ली के खिलाफ अपने डेब्यू मैच में 273 रनों बनाकर शानदार प्रदर्शन किया था।
  • इसके बाद वर्ष 2017-18 में उन्होंने रणजी ट्राफी में बिहार के लिए 6 मैचो में सबसे अधिक 484 रन बनाए थे।

ईशान किशन ने झारखण्ड के लिए क्रिकेट खेलते हुए यह साबित कर दिया की क्रिकेट में किसी तरह का कोई भेदभाव नही होता है। क्योकि इस खेल में तो सिर्फ और सिर्फ प्रतिभा को महत्त्व दिया जाता है, जो खिलाडी कड़ी मेहनत करते है। उन्हें देर से ही सही लेकिन क्रिकेट में आगे बढने के अवसर जरुर ही मिलते है, ईशान ने झारखंड के लिए रणजी ट्राफी में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया था। जिसके बाद उनके लिए आगे बढने के अवसर खुलने लगे,

अब जानते है की ईशान किशन का आगे का क्रिकेट करियर कैसा रहा।

कुछ अन्य तथ्य

  • जनवरी 2018 के आईपीएल ऑक्शन में ईशान किशन को Mumbai Indians ने आईपीएल में खेलने के लिए खरीदा था।
  • वर्ष 2018-19 सत्र में झारखंड की ओर से विजय हजारे ट्राफी के 9 मैचो में सबसे अधिक 405 रन बनाए थे।
  • अक्टूबर 2018 में उनको देवधर ट्राफी में India’C के सदस्य के रूप में चुना गया था, इस ट्राफी के फाइनल मुकाबले में एक शानदार शतक भी शामिल था।
  • इसके बाद वर्ष 2019 सत्र में सय्यद मुश्ताक अली ट्राफी में ईशान किशन ने जम्मू – कश्मीर के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करते हुए शतक लगाया था।
  • 14 मार्च 2021 को इंग्लैंड के खिलाफ ईशान किशन ने टी-20 में अपना डेब्यू किया है।
  • 18 जुलाई 2021 को ईशान ने श्री लंका के विरुद्ध ODI में अपना डेब्यू किया और इस मैच में 42 गेंदों में 59 रन बनाये थे।
  • वर्तमान में उनके बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत उन्हें टी-20 वर्ल्डकप 2021 में खेलने के लिए भरतीय टीम में चुना गया है।

 

ईशान किशन का निजी जीवन

हम आपकी जानकारी के लिए बता दे की वर्तमान में ईशान किशन अदिति हंडिया के साथ रिलेशनशिप में है आदिती फैशन की दुनिया का जाना माना चेहरा है। साल 2017 के मिस इंडिया कॉम्पिटिशन में भी हिस्सा ले चुकी है।

वर्तमान में ईशान किशन और अदिति एक दुसरे को डेट कर रहे है।

यह भी पढ़ें

विराट कोहली की जीवनी

महेंद्र सिंह धोनी जीवनी

रोहित शर्मा का जीवन परिचय

ऋषभ पंत का जीवन परिचय

मिताली राज जीवन परिचय

स्मृति मंधाना जीवन परिचय

निष्कर्ष

ईशान किशन प्रत्येक उस युवा के लिए प्रेरणास्त्रोत है, जो अपने जीवन में न सिर्फ क्रिकेट के क्षेत्र में अथवा अपने जीवन में किसी भी क्षेत्र में सफलता पाना चाहता है। तब उन्हें अवश्य ही ईशान से सीखना चाहिए, हाल फिलहाल में ईशान किशन को अक्टूबर 2021 में होने वाले टी-20 वर्ल्डकप के लिए भारतीय टीम में चुना गया है।

हम आशा करते है की ईशान किशन अपने क्रिकेट करियर में बहुत आगे बढ़े और जो भी युवा क्रिकेट में करियर बनाना चाहते है उन सभी को प्रेरित करे। हम उम्मीद करते है की आपको ईशान का जीवन परिचय अवश्य ही पसंद आया है।

Leave a Comment

You cannot copy content of this page